दरिंदगी से भरे हुए रोहिंग्या, हर देश के लिए खतरा

भारत में अभी एनआरसी बनाने पर चर्चा चल रही है. विपक्ष के नेताओं द्वारा NRC का भयंकर विरोध कर रहा है परंतु सरकार राष्ट्रीय सुरक्षा की दृष्टि से एनआरसी अवश्य लागू करेगी. इसका मुख्य कारण है भारत में अवैध रूप से घुस चुके रोहिंग्या आतंकियों को पहचानना और उन्हें भारत से बाहर निकालना. यह क्यों जरूरी है इसके लिए आपको रोहिंग्याओं की कहानी समझने पड़ेगी.

शांतिप्रिय बुध देश

म्यांमार बर्मा नामक एक देश में जहां की अधिकतर आबादी बुद्ध / हिंदू है. भारत में गैर क़ानूनी रूप से घुसे हुए रोहिंग्या मुस्लिम वही के रहने वाले हैं.

आर्य सिद्धार्थ गौतम (महात्मा बुद्ध)

5.5 करोड़ की आबादी वाले देश में मुसलमानों की आबादी 5% के करीब होते ही उन्होंने वहां पर इस्लामिक देश बनाने की मांग करना शुरू कर दिया. और इसके लिए उन्होंने बुध लोगों का संघार करना शुरू कर दिया उनके बुद्धिस्ट मठों को तोड़ना शुरू कर दिया.

रोहिंग्या मुस्लिमों द्वारा वहां पर इस्लामिक शरिया कानून लाने की मांग की जाती थी. बुध लोगों को जबरदस्ती अल्लाह को मानने को कहा जाता था. और कई बार मुस्लिम लोगों की भीड़ बुद्ध लोगों के मोहल्ले में घुसकर नमाज करने लगती थी फिर बच्चियों को उठा ले जाती. रमजान के महीने के आस-पास रोहिंग्या के द्वारा अनेकों लोग मारे जाते थे.

आप कल्पना नहीं कर सकते – यह लोग महिलाओं के साथ दुष्कर्म करते हैं और इसके बाद उनका मांस खाते हैं.

बुद्ध बच्चो और महिलाओ पर रोहिंग्याओ द्वारा हमले की तस्वीर

कई दसको तक रोहिंग्या मुस्लिमों का अत्याचार म्यांमार के आम बुध लोगों पर होता रहा. इस बीच में रोहिंग्याओ ने लगभग 30000 से अधिक नागरिको का क्रूरता से नरसंहार कर दिया.

जब स्थिति बदतर हो गयी तो म्यांमार की सरकार और एक चर्चित बुद्धिस्ट संत असीन विरात्हू के नेतृत्व में सभी हमलावर को चिन्हित करके परिवार सहित देश निकाला देने का फैसला किया.

देश छोड़ने के समय भी निकलते निकलते हुए इनके द्वारा 2000 से भी अधिक बुध लोगों की हत्या कर दी गई. और 100 से अधिक हिंदू परिवारों की हत्या करके उनकी लाशों को एक गड्ढे में डाल दिया गया.

रोहिग्याओ द्वारा जलाये गए नागरिको के घर

आपकी जानकारी के लिए बता दें रोहिंग्या ऐसे लोग हैं जिनके 9 साल का छोटा बच्चा भी चाकू से किसी की भी जान लेने की क्षमता रखता है. इनका 10 साल 12 साल का बच्चा भी एके-47 को चलाने की क्षमता रखता है. क्योंकि उन्हें इस सब के लिए तैयार करके रखा गया है.

इतना ही नहीं अपनी मासूमियत का इस्तेमाल करके लोगों को मूर्ख बनाना भी जानते हैं. और इसके लिए यह एक गरीब और दीन हीन रूपरेखा बनाकर दिखाते हैं.

इसी वजह से किसी मुस्लिम देश ने भी इन लोगों को अपने देश में प्रवेश नहीं दिया. यहां तक कि बांग्लादेश ने रोहिंग्या ओं के ऊपर बयान देते हुए कहा कि यह देश की सुरक्षा के लिए खतरा है. और इसके बाद धीरे-धीरे बांग्लादेश ने इन लोगों को भारत में घुसा दिया इस काम में ममता बनर्जी ने देशद्रोह करते हुए घुसपैठियों को भारत में आने दिया.

सरकार प्रयास कर रही है ताकि भारत में म्यामार जैसी स्थिति उत्पन्न ना हो. पर भारत का विपक्ष राजनितिक धुन में डूबा है. सरकार को विपक्ष का साथ नहीं मिल रहा.

5 thoughts on “दरिंदगी से भरे हुए रोहिंग्या, हर देश के लिए खतरा”

  1. To khaate hai aur khayenge tum “hindu buddh sikh jain” kuch nahi kar paoge hm muslimo ka. Tum rohingyao ki baat kar rhe ho hm khud khud khaate hain bina kisi inasan ka mans khaye ibadat kubul nahi hoti. La ilaha illlallah. Inshallah

    Reply
    • एक एक शब्द सत्यम है।
      भारत सरकार को शीघ्र ही पश्चिमी बंगाल में ममता बनर्जी के विरुद्ध कार्रवाई करते हुए।
      उसे केन्द्र शासित प्रदेश घोषित करे और बहां सेना भेज कर घुसपैठिए रोहेनिया मुस्लिम समुदाय के लोगों को बाहर निकालने की कार्रवाई शीघ्र की जानी चाहिए।

      Reply
  2. मांसाहार,सेक्स,हिंसा और धोखाधडी पर आधारित विस्तार वादी islamic विचारधारा राजनैतिक ही हो सकती है आध्यात्मिक नहीं ।

    Reply

Leave a comment