आयुष्मान भारत योजना कार्ड ऐसे बनवाएं? प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना

0

लोगों की आर्थिक स्थिति कमजोर होती है जिससे वह इलाज के लिए पैसे तक नहीं जुटा पाते हैं और इलाज के अभाव में अनर्थ हो जाता है. भाजपा सरकार ने इस स्थिति से आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को बचाने के लिए प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना का शुभारंभ किया.

इस योजना को आयुष्यमान भारत योजना के नाम से भी जाना जाता है. योजना के तहत आर्थिक रूप से कमजोर लोग सरकार के द्वारा इलाज के लिए धनराशि प्राप्त करते हैं. यदि आप भी इस योजना के योग्य है तो आप भी इस योजना के तहत आयुष्यमान गोल्डन कार्ड प्राप्त कर सकते हैं.

आइए विस्तार से इस योजना के बारे में जानिए और अपने लिए भी आयुष्मान योजना का गोल्डन कार्ड प्राप्त कीजिए. आप भी इस योजना के तहत 5 लाख रुपए तक का मुफ्त इलाज करा सके.

Ayushman Bharat Pradhan Mantri Jan Arogya Yojana

भारतीय जनता पार्टी की मोदी सरकार के द्वारा शुरू की गई इस योजना को “आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना” कहा जाता है. यह योजना गरीब परिवारों के लिए “आयुष्यमान भव:” वरदान की तरह सिद्ध होती है इसीलिए इसके नाम में आयुष्मान भारत लगा है.

योजना के तहत कई सारी सुविधाएं मिलने वाली है जो इलाज में लोगों के लिए सहायक होंगे. प्रतिवर्ष इलाज के खर्चे का करीब ₹500000 तक का भुगतान सरकार की तरफ से किया जाता है.

योजना के तहत अनेकों प्रकार की गंभीर बीमारियां जैसे कैंसर, दिल की बीमारी, किडनी, लीवर, डायबिटीज समेत लगभग 1300 से भी अधिक बीमारियों का इलाज आयुष्मान योजना के तहत मुक्त किया जाने की योजना है.

Ayushman Yojna का लाभ किसे मिलेगा?

आयुष्मान जन आरोग्य योजना का लाभ उठाने के लिए आपका नाम आयुष्मान योजना की लिस्ट में होना चाहिए. भारत सरकार ने जनगणना के आंकड़ों से इस योजना के लाभार्थियों की लिस्ट तैयार की है.

इस योजना का लाभ प्रत्येक आर्थिक रूप से कमजोर व्यक्ति को पहुंचाने का उद्देश्य बनाया गया है. परंतु कई गरीब परिवार इससे छूट गए हैं। नीतियों की रचना की जा रही है ताकि Sabhi को भी इसका लाभ पहुंचाया जा सके.

Ayushman Yojna लाभ कैसे मिलेगा ?

आयुष्मान योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए व्यक्ति के पास आयुष्मान जन आरोग्य योजना में दिया जाने वाला गोल्डन कार्ड होना चाहिए.

आपके पास गोल्डन कार्ड मौजूद है तो आप किसी भी सरकारी अथवा गैर सरकारी अस्पताल में इलाज करा सकते हैं. परंतु ध्यान दीजिए अस्पताल में आयुष्मान केंद्र होना चाहिए. क्योंकि जिस अस्पताल में केंद्र होगा वही पर आपके द्वारा कराए गए इलाज का भुगतान इस योजना के तहत किया जा सकेगा.

जब आप अस्पताल में किसी को भर्ती कर आते हैं तो मरीज का नामांकन कराते वक्त आपको जानकारी देनी होगी कि आप आयुष्मान योजना से इलाज कराना चाहते हैं. ऐसे में अस्पताल में मौजूद आयुष्मान केंद्र मरीज पर आने वाले खर्चे का लेखा-जोखा तैयार करता है और इलाज पूर्ण होने के बाद योजना के तहत भुगतान कर दिया जाता है.

यानी सीधा सा अर्थ है इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए मुख्य रूप से आपके पास आयुष्मान योजना गोल्डन कार्ड होना चाहिए.

गोल्डन कार्ड कैसे बनेगा?

गोल्डन कार्ड का साइज आधार कार्ड एटीएम कार्ड के जितना होता है. यह गोल्डन कार्ड प्रत्येक आयुष्मान योजना का लाभ प्राप्त करने की योग्यता रखने वाले व्यक्ति को मिलता है. यदि आपके पास गोल्डन कार्ड नहीं है तो आप किसी भी जन सेवा केंद्र अथवा सरकारी अथवा गैर सरकारी अस्पताल में जाकर के गोल्डन कार्ड बनवा सकते हैं.

गोल्डन कार्ड बनवाने के लिए आयुष्मान योजना की लिस्ट में आपको अपना नाम चेक करना होगा. भारत सरकार ने वेब पोर्टल बनाया है जिस पर प्रत्येक राज्य के प्रत्येक जिले और प्रत्येक शहर तथा गांव में निवास करने वाले उन सभी लोगों का ब्यौरा दिया गया है जिन्हें इस योजना के तहत कार्ड दिया गया है या फिर दिया जाएगा.

यदि आप आपको लगता है कि आपको भी योजना का लाभ मिलना चाहिए तो आप अपना नाम भी आयुष्मान योजना की लिस्ट में देख सकते हैं.

योजना लिस्ट में अपना नाम कैसे देखें?

योजना की लिस्ट में अपना नाम देखने के लिए सबसे पहले भारत सरकार के इस वेब पोर्टल Ayushman Yojna पर जाइए.

  • यहां आपको लॉग इन करने के लिए अपना मोबाइल नंबर डालना है और कैप्चा कोड को भर कर जेनरेट ओटीपी पर क्लिक करें.
  • अब आप के मोबाइल नंबर पर एक मैसेज आएगा जिसने दिया गया कोड भर के Submit पर क्लिक कर दीजिए.
  • यहां पर राज्य का चुनाव कीजिए
  • अगले विकल्पों में नाम, राशन कार्ड अथवा मोबाइल नंबर जिस माध्यम से आप लिस्ट में नाम खोजना चाहते हैं सिलेक्ट करें।
  • इसके बाद आपको नीचे जानकारी भरने का विकल्प मिलेगा।
  • पूछी गई जानकारी भर के ” खोजें/search” पर क्लिक कर दीजिए।
  • यदि जानकारी सही से भरी होगी तब यदि योजना में व्यक्ति का नाम शामिल किया गया होगा तो जानकारी पेज पर दिखाई देने लगेगी।

आयुष्मान योजना लिस्ट में नाम ना होने पर क्या करें?

आयुष्मान योजना फ्री योजना है इसलिए इसका लाभ प्राप्त करने में थोड़ी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। यदि आपका नाम योजना की लिस्ट में शामिल नहीं होता है तो सरकार की तरफ से निर्देश दिए गए हैं की आप अपने क्षेत्र की आशा बहू या फिर सेक्रेट्री से संपर्क करें।

जिन लोगों को आयुष्मान योजना का कार्ड नहीं मिल पाया था प्रधानमंत्री मोदी की तरफ से उन सभी को एक एक चिट्ठी भेजी गई है। यह सभी आशा बहू या फिर सेक्रेटरी के पास मौजूद होती है।

यदि आप की आर्थिक स्थिति बहुत कमजोर है और आपको इस योजना की आवश्यकता है। आशा बहू और सेक्रेट्री आपका नाम योजना की लिस्ट में डलवा सकते हैं और आयुष्मान कार्ड बनवा सकते हैं।

निष्कर्ष

प्रधानमंत्री जन आरोग्य आयुष्मान योजना के बारे में तथा आयुष्मान गोल्डन कार्ड बनवाने के बारे में विस्तार से जानकारी यहां पर प्रदान की गई है. यह जानकारी आपके लिए उपयोगी सिद्ध होगी. बताई गई जानकारी का अनुसरण करें और योजना का लाभ उठाएं. धन्यवाद.

Leave A Reply

Your email address will not be published.